अण्णा हजारे (अन्ना हजारे)के आंदोलन की वजह से भ्रष्टाचार विरोधी सामग्री की इंटरनेट पर खोज बढ़ी-हिन्दी लेख (anna hazare’s anti corruption movement and internet-hindi article)


        अन्ना हजारे के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन और जनलोकपाल की स्थापना के अभियान को प्रचार माध्यमों ने देश में चर्चा का विषय बना दिया है। यह तो पता नहीं कि इस आंदोलन की चरम परिणति किस तरह होगी पर इतना तय है कि इससे देश के लोगों पर इतना प्रभाव हुआ है कि इसकी चर्चा हर कहीं चल रही है। टीवी चैनलों पर भारी भरकम पेशेवर विद्वान निरंतर अपने विचार प्रकट कर रहे हैं तो समाचार पत्रों में उनके ही लेख छाये हैं। हमारी दिलचस्पी भी इस आंदोलन के भ्रष्टाचार विरोधी विषय में है पर इतर गतिविधियों पर भी बराबर नज़र रहती है। इसके आधार पर कह सकते हैं कि भ्रष्टाचार विरोध एक नारा बन गया है जिससे इंटरनेटर पर संभवत सबसे अधिक खोजा जा रहा है। भ्रष्टाचार विरोध शब्द अन्ना हजारे से अधिक सर्च इंजिनों में ढूंढा जा रहा है।
        इसका आभास अपने ब्लाग दीपक बापू कहिन पर लगातार दो दिन एक हजार से अधिक पाठक/पाठ पठन संख्या होने पर हुआ। हालांकि अन्य ब्लाग हिन्दी पत्रिका को भी यह श्रेय हिन्दी दिवस के अवसर पर मिल चुका है। आज भी ऐसा लग रहा है कि दीपक बापू कहिन एक हजार से अधिक का आंकड़ा पार करेगा। ऐसे नहीं है कि भ्रष्टाचार पर लिखी गयी हास्य कवितायें या लेख पहले पाठक नहीं जुटा रहे थे। दरअसल उस समय वह पाठ अन्य शब्दों से सर्च इंजिनों पर पढ़े जा रहे थे। भ्रष्टाचार शब्द से भी पढ़े गये पर उनकी संख्या इतनी नहंी थी जितनी आजकल दिख रही है।
       इसका अभिप्राय यह है कि अन्ना हजारे साहब का अनशन, भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन तथा जनलोकपाल की मांग से कहीं न कहीं टीवी चैनलों तथा समाचार पत्रों के अपने विज्ञापन के साथ प्रसारण तथा प्रकाशन के लिये एक महत्वपूर्ण रुचिकर सामग्री मिल रही है। इतना ही नहीं पिछले दिनों ऐसा लग रहा था कि इंटरनेट का प्रभाव कम हो सकता है क्योंकि इस पर परंपरागत प्रचार माध्यमों जैसी सामग्री प्रस्तुत हो रही है। इधर भारत ही नहीं बल्कि इंटरनेट को सामूहिक अभियानों और आंदोलनों के लिये प्रभावी बताकर यह साबित किया जा रहा है कि उससे जुड़ा रहना बेहतर है। लगता है कि कहीं न कहीं टेलीफोन कंपनियां अपने ग्राहक बनाये लगने के लिये ऐसे अभियानों को प्रोत्साहित कर रही हैं। संभव है प्रत्यक्ष नहीं तो अप्रत्यक्ष विनिवेश भी करती हों। तय बात है कि इससे टेलीफोन कंपनियों को ही सहारा मिलना है। पहले ब्लाग, फिर ट्विटर और अब फेसबुक जनचर्चा के लिये महान कार्य करते दिखाये जा रहे हैं। पहले फिल्मी अभिनेताओं, अभिनेत्रियों तथा अन्य अन्य प्रतिष्ठित लोगों के ब्लाग चर्चित कर इंटरनेट की महिमा बतायी जाती थी आजकल ट्विटर और फेसबुक पर उनके जारी संदेश टीवी चैनलों और समाचार पत्रों में प्रचारित किये जाते हैं। तय बात है कि किसी खास आदमी की आम बात को जोरदार प्रचार होता है पर आम आदमी की खास बात को भी छोड़ दिया जाता है। अन्ना हजारे के आंदोलन से अंततः कहीं न कहीं आजकल के प्रचार माध्यमों के साथ ही टेलीफोन कंपनियों को भी लाभ हो रहा है। लोगों से एसएमएस भी कराये जा रहे हैं और भावुक लोग ऐसा कर भी रहे हैं। हमें इन चीजों से कोई लेना देना नहीं है पर इतना जरूर कह सकते हैं कि प्रचार माध्यमों के स्वामी इस आंदोलन से लाभ उठा रहे हैं शायद यही कारण है कि इस आंदोलन के विरोधी इससे जुड़े आर्थिक स्तोत्रों पर संदेह करते हैं क्योंकि अंतत उनके माध्यम से एक बहुत बड़ी राशि समाज सेवकों के पास चाहे वह आंदोलनकारी हों या उनके प्रबंधक-जाती है।
            अन्ना साहेब बुजुर्ग हैं और इस गैस विकार पैदा करने वाले मौसम में उनका इस तरह अनशन पर बैठना चिंता का विषय है। एक बात साफ है कि उन्होंने देश के जनमानस को आंदोलित किया है पर भ्रष्टाचार ऐसी बीमारी है जिसका हल लोगों को स्वयं भी ढूंढना चाहिए। भ्रष्टाचार का कारण लालच और लोभ है। एक लालची अधिक चाहता है इसलिये वह दूसरे लालची को इसलिये पैसा देता है ताकि वह उसकी सहायता करे। फिर जिस तरह आज के प्रचार माध्यमों का रवैया है वह उपभोग संस्कृति को प्रोत्साहित करते हैं और खास लोगों की  अभिव्यक्ति को ही आवाज देते हैं और आम आदमी उनके लिये अत्यंत निरीह है। यही कारण है कि हर आम खास बनना चाहता है। इस लोभ के चलते कोई भी किसी मार्ग पर चला जाता है यह जाने कि वह अच्छा है कि नहीं। अपनी जरूरतें बढ़ा दी गयी हैं जिससे लोग धन पाने के अलावा कोई अन्य लक्ष्य जीवन में रखना तो दूर सोचते तक भी नहीं है। दीपक बापू कहिन ही नहीं अन्य ब्लाग पर भी भ्रष्टाचार के विरुद्ध लिखी सामग्री इंटरनेट पर ढूंढती दिखी। तब यह लिखने का विचार आया कि अन्ना हजारे के आंदोलन से ‘भ्रष्टाचार का विषय’ कितना चर्चित हुआ है यह अनुभव पाठकों तथा ब्लाग मित्रों से बांटा जाये। आखिरी बात यह है कि व्यंजना विधा में भ्रष्टाचार को लक्ष्य कर लिखी गयी हमारी एक कविता का उपयोग कहीं न कहीं अन्ना साहेब के प्रचार में दिखा। व्यंजना विधा में लिखी गयी बात बहुत कम समझ में आती है पर अन्ना साहेब के अंादोलन में विलक्षण प्रतिभाशाली लोग भी हैं यह आज प्रचार माध्यम बता रहे थे। इसका मतलब है कि उनमें से किसी एक ने पढ़ा है और उसका उपयोग अपने ढंग से किया है। यह अलग बात है कि हमें वह कविता पुनः देखने के लिये बीस ब्लागों का अवलोकन करना पड़ेगा। हमने यह कविता तब लिखी थी जब यह अनशन होने की बात भी नहीं थी।

दीपक बापू कहिन में पढ़े गये पाठों का विवरण इस प्रकार है
 Total views of posts on your blog      1035 date on 19.08.11   &
Total views of posts on your blog 1019 date on 18.8.11
हास्य कविता-भ्रष्टाचार के विरुद्ध आंदोलन (hasya kavita-bhrashtachar ke khilaf andolan)     More stats    225
नीयत में भ्रष्टाचार-हिन्दी व्यंग्य कवितायें (neeyat men bhrashtachar-hindi satire poem’s)     More stats    197
Home page     More stats    117
महंगाई देश भक्ति को कुचल जायेगी-हिन्दी कविता (mehangai aur deshbhakti-hindi hasya kavita)     More stats    94
हंसी का खज़ाना-हिन्दी कविता     More stats    69
भ्रष्टाचार एक अदृश्य राक्षस–हिन्दी हास्य कविताएँ/शायरी (bhrashtachar ek adrishya rakshas-hindi hasya kavitaen)     More stats    57
स्वामी रामदेव, अन्ना हजारे और विकिलीक्स के जूलियन असांजे की त्रिमूर्ति-हिन्दी व्यंग्य चिंत्तन (swami ramdev,anna hazare aur wikileak ke julian asanje ki tikdi-hindi vyangya chinttan)     More stats    46
इश्क और मशीन-हास्य कविता (hasya kavita)     More stats    42
बेशर्मी अब बुरी आदत नहीं कहलाती-हिन्दी व्यंग्य कविता     More stats    26
हिंदी दिवस:व्यंग्य कवितायें व आलेख (Hindi divas-vyangya kavitaen aur lekh)     More stats    22
प्रजांतत्र का चौथा खंभा-हिन्दी हास्य कविता (prajatantra ka chautha khanbha-hindi hasya kavita)     More stats    21
इंसान के भेष में शैतान-हिन्दी शायरी     More stats    9
भगतसिंह के इंतज़ार में-हिन्दी व्यंग्य चिंतन (bhagatsinh ke intzar mein-hindi vyangya chittan     More stats    9
भारतीय धनपतियों की खुलती पोल-हिन्दी लेख (indial capitalist and comman society-hindi article)     More stats    8
‘आरक्षण’ फिल्म पर हायतौबा पूर्वनियोजित-हिन्दी लेख (film or movie Aarakshan par vivad fix-hindi lekh)     More stats    8
भरोसे के नाम पर तोहफा धोखे का-हिन्दी व्यंग्य कविता (bharose ka naam par tohfe dhokhe ka-hindi vyangya akvita)     More stats    8
चाणक्य नीति:असंयमित जीवन से व्यक्ति अल्पायु     More stats    8
न खेलो इस ज़माने से-हिन्दी साहित्यक कविता     More stats    7
मुस्कराहट-हिन्दी कविता     More stats    7
चांद और समंदर-हिन्दी कविता (chand aur samandar-hindi poem)     More stats    7
यादों का बयान-हिन्दी शायरी     More stats    5
बिना मेकअप के अभिनय-हास्य व्यंग्य कविता     More stats    4
तुम्हारी ताकत-हिन्दी कविता (tumhari takat-hindi poem)     More stats    3
‘मेरे पास बस प्यार है’ -hasya kavita     More stats    3
प्रलय की भविष्यवाणी-हिन्दी व्यंग्य (prlaya ki bhavishvani-hindi vyangya)     More stats    3
होली के अवसर पर विशेष लेख (special article on holi festival)     More stats    2
हारने पर इनाम-हास्य व्यंग्य (hasya vyangya)     More stats    2
जो सभी को पसंद हो वही कहो -हास्य कविता     More stats    2
संत कबीर वाणी:जादू टोना सब झूठ है     More stats    2
बहस और बाजार-व्यंग्य कविता (bahas aur bazar-hindi vyangya kavita)     More stats    2
रहीम के दोहे: वाणी से होती है आदमी की पहचान     More stats    2
दौलत की इबारत-हिन्दी कविता     More stats    2
आशिक खिलाड़ी-हिन्दी दिवस पर हास्य कविता (player and lover-comic poem on hindi diwas)     More stats    2
व्यंग्य के लिए धार्मिक पुस्तकों और देवों के नाम के उपयोग की जरूरत नहीं-आलेख     More stats    1
तकदीर और चालाकियां-हिन्दी व्यंग्य कवितायें (taqdir aur chalaki-hindi comic poems     More stats    1
बच गया हेरी पॉटर     More stats    1
वर्षा ऋतु:कहीं सूखा कहीं बाढ़     More stats    1
दशहराःरावण के नये रूप महंगाई, भ्रष्टाचार, और बेईमानी से लड़ना आवश्यक-हिन्दी लेख (ravan ke naye roop-hindi lekh     More stats    1
साढ़े चार साल में चला दो लाख पाठक/पाठ पठन संखया तक यह ब्लाग-हिन्दी संपादकीय     More stats    1
आदर्श के नाम पर समाज सेवा-हिन्दी हास्य व्यंग्य कविता (adrash ke nam par samaj seva-hindi hasya vyangya kavita)     More stats    1
ईमानदार का बलिदान-हिन्दी लेख (imandar ka balidan-hindi lekh)     More stats    1
निगाहों ने खो दी है अच्छे बुरे की पहचान-हिन्दी शायरी (nanigah ne kho di pahchan-hindi shayari)     More stats    1
ख्वाब जब हकीकत बनते हैं-हिन्दी शायरी (khavab aur haqiqut-hindi shayri)     More stats    1
पाप छिपाने के लिये धर्म की आड़-हिन्दी व्यंग्य कविताऐं (paap aur dharma-hindi vyangya kavitaen)     More stats    1
जज़्बातों की कत्लगाह-हिन्दी शायरी (jazbat-hindi shayri)     More stats    1
कौटिल्य का अर्थशास्त्र-किसी को अपनी योग्यता से अधिक महापद भी मिल जाता है (ablity and post-kautilya ka arthshastra)     More stats    1
विज्ञान और ज़माना-हिन्दी व्यंग्य शायरी (vigyan aur zamana)     More stats    1
Total views of posts on your blog      1035 date on 19.08.11  

Total views of posts on your blog 1019 date on 18.8.11
हास्य कविता-भ्रष्टाचार के विरुद्ध आंदोलन (hasya kavita-bhrashtachar ke khilaf andolan)     More stats    241
नीयत में भ्रष्टाचार-हिन्दी व्यंग्य कवितायें (neeyat men bhrashtachar-hindi satire poem’s)     More stats    166
Home page     More stats    146
हंसी का खज़ाना-हिन्दी कविता     More stats    74
भ्रष्टाचार एक अदृश्य राक्षस–हिन्दी हास्य कविताएँ/शायरी (bhrashtachar ek adrishya rakshas-hindi hasya kavitaen)     More stats    55
स्वामी रामदेव, अन्ना हजारे और विकिलीक्स के जूलियन असांजे की त्रिमूर्ति-हिन्दी व्यंग्य चिंत्तन (swami ramdev,anna hazare aur wikileak ke julian asanje ki tikdi-hindi vyangya chinttan)     More stats    54
महंगाई देश भक्ति को कुचल जायेगी-हिन्दी कविता (mehangai aur deshbhakti-hindi hasya kavita)     More stats    44
इश्क और मशीन-हास्य कविता (hasya kavita)     More stats    40
बेशर्मी अब बुरी आदत नहीं कहलाती-हिन्दी व्यंग्य कविता     More stats    27
हिंदी दिवस:व्यंग्य कवितायें व आलेख (Hindi divas-vyangya kavitaen aur lekh)     More stats    23
मुस्कराहट-हिन्दी कविता     More stats    12
प्रजांतत्र का चौथा खंभा-हिन्दी हास्य कविता (prajatantra ka chautha khanbha-hindi hasya kavita)     More stats    11
भगतसिंह के इंतज़ार में-हिन्दी व्यंग्य चिंतन (bhagatsinh ke intzar mein-hindi vyangya chittan     More stats    9
दौलत की इबारत-हिन्दी कविता     More stats    8
‘आरक्षण’ फिल्म पर हायतौबा पूर्वनियोजित-हिन्दी लेख (film or movie Aarakshan par vivad fix-hindi lekh)     More stats    8
भारतीय धनपतियों की खुलती पोल-हिन्दी लेख (indial capitalist and comman society-hindi article)     More stats    8
यादों का बयान-हिन्दी शायरी     More stats    8
तुम्हारी ताकत-हिन्दी कविता (tumhari takat-hindi poem)     More stats    7
न खेलो इस ज़माने से-हिन्दी साहित्यक कविता     More stats    6
‘मेरे पास बस प्यार है’ -hasya kavita     More stats    5
बिना मेकअप के अभिनय-हास्य व्यंग्य कविता     More stats    5
रहीम के दोहे: वाणी से होती है आदमी की पहचान     More stats    5
संत कबीर वाणी:जादू टोना सब झूठ है     More stats    4
चाणक्य नीति:असंयमित जीवन से व्यक्ति अल्पायु     More stats    4
आशिक खिलाड़ी-हिन्दी दिवस पर हास्य कविता (player and lover-comic poem on hindi diwas)     More stats    4
प्रलय की भविष्यवाणी-हिन्दी व्यंग्य (prlaya ki bhavishvani-hindi vyangya)     More stats    4
भरोसे के नाम पर तोहफा धोखे का-हिन्दी व्यंग्य कविता (bharose ka naam par tohfe dhokhe ka-hindi vyangya akvita)     More stats    4
हारने पर इनाम-हास्य व्यंग्य (hasya vyangya)     More stats    3
बाबा रामदेव को कौन क्या समझा रहा है-उनके आंदोलन पर लेख (baba ramdev ko kaun kya samjha raha hai-a hindi lekh his new movement on anti corruption)     More stats    2
वर्षा ऋतु:कहीं सूखा कहीं बाढ़     More stats    2
बाबा रामदेव क्या चमत्कार कर पायेंगे-हिन्दी आलेख (swami ramdev ka bhrashtacha ke viruddhi andolan-hindi lekh)     More stats    2
हास्य कविताएं और गंभीर चिंतन है पाठकों की पसंद-संपादकीय     More stats    2
भारत में भूत-हिन्दी हास्य कविता (bharat men bhoot-hindi hasya kavita)     More stats    2
विज्ञान और ज़माना-हिन्दी व्यंग्य शायरी (vigyan aur zamana)     More stats    2
दिखावटी और मिलावटी-हिन्दी व्यंग्य कविता     More stats    1
रिश्ता और सवाल जवाब-हास्य कविता (rishta aur sawal jawab-hasya kavita     More stats    1
भाषा और अखबार-लघु हास्य व्यंग्य (bhasha aur akhabar-hindi short comic satire article)     More stats    1
ऑपरेशन में ध्यान की विधा का उपयोग-हिन्दी लेख(opretion and dhyan yoga-hindi lekh)     More stats    1
कभी ख्वाब तो कभी हकीक़त-व्यंग्य शायरी     More stats    1
बहस और बाजार-व्यंग्य कविता (bahas aur bazar-hindi vyangya kavita)     More stats    1
कमीशन-हिन्दी व्यंग्य कविताएँ     More stats    1
असली झगड़ा, नकली इंसाफ-हिन्दी व्यंग्य और कविता (asli jhagad aur nakli insaf-hindi vyangya aur kavita)     More stats    1
ज़िन्दगी के बदलते रंग     More stats    1
चांद और समंदर-हिन्दी कविता (chand aur samandar-hindi poem)     More stats    1
बेईमान चढ़े हैं हर शिखर पर-हिन्दी शायरी (beiman shikhar par-hindi shayri)     More stats    1
बेपैंदी का लोटा-हिंदी व्यंग्य कविताएँ     More stats    1
हिन्दी भाषा की महिमा-आलेख     More stats    1
आत्मसम्मान से जीता है मजदूर     More stats    1
साढ़े चार साल में चला दो लाख पाठक/पाठ पठन संखया तक यह ब्लाग-हिन्दी संपादकीय     More stats    1
ईमानदार का बलिदान-हिन्दी लेख (imandar ka balidan-hindi lekh)     More stats    1
बुत सम्मलेन में एक सवाल-लघु कथा     More stats    1
शांति पर कोई शांति से नहीं लिखता-हिंदी व्यंग्य कविता (peace writting-hindi vyangya)     More stats    1
इंसान के भेष में शैतान-हिन्दी शायरी     More stats    1
छोटा आदमी, बड़ा आदमी-लघुकथा     More stats    1
क्रिकेट और फिल्म में सफलता का साया-हास्य कविता(cricket and film-hasya kavita     More stats    1
इन्टरनेट हैकर्स-आलेख (internet hecker-hindi lekh)     More stats    1
Total views of posts on your blog 1019 date on 18.8.11
——————–

कवि, लेखक एवं संपादक-दीपक ‘भारतदीप’ग्वालियर
jpoet, Writer and editor-Deepak ‘Bharatdeep’,Gwalior
http://zeedipak.blogspot.com
 
यह कविता/आलेख इस ब्लाग ‘दीपक भारतदीप की अभिव्यक्ति पत्रिका’ पर मूल रूप से लिखा गया है। इसके अन्य कहीं भी प्रकाशन की अनुमति नहीं है।
अन्य ब्लाग
1.दीपक भारतदीप की शब्द पत्रिका
2.दीपक भारतदीप का चिंतन
3.दीपक भारतदीप की शब्दयोग-पत्रिका

४.दीपकबापू कहिन
5.हिन्दी पत्रिका 
६.ईपत्रिका 
७.जागरण पत्रिका 
८.हिन्दी सरिता पत्रिका 
९.शब्द पत्रिका
Post a comment or leave a trackback: Trackback URL.

टिप्पणियाँ

  • निश्‍चित रूप से अन्‍ना हजारे का अनशन आज सबसे बडे मुददे की बात है। मेरे प्रष्‍ठ पर अपना एक नवगीत जारी किया है -‘ फिर दिल्‍ली में बात चली है सारा सिस्‍टम बदलेगा’ साथियो अवलोकन करने का कष्‍ट करें।

  • jiyajunior  On सितम्बर 7, 2012 at 12:05

    ANNA HAZARE JI KO BAHUT SAHYOG KI JAROORT HAI KYOKI IS DESH ME AATANKVADIYO KO BHI SAJA DILANE KE LIYE ANSHAN KARNI PAREGI.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: